mahima devi

  • mahima devi posted an update 5 months ago

    बाहर से सूरज की गर्मी की तरह
    अंदर से बारिश की बूंदो की तरह
    क्या बोलू उसके बारे में..वो तो हैं
    घने बादलो में इंद्र धनुष की तरह

  • mahima devi posted an update 5 months ago

    अलफ़ाज़ की शक्ल में एहसास लिखा जाता हैं
    यहाँ पानी को भी प्यास लिखा जाता हैं
    मेरे ज़ज़्बात से वाकिफ हैं मेरी कलम,
    मैं प्यार लिखू तो तेरा नाम लिखा जाता हैं

  • mahima devi posted an update 5 months ago

    जब यार मेरा हो पास मेरे, मैं क्यूँ न हद से गुजर जाऊँ,
    जिस्म बना लूँ उसे मैं अपना, या रूह मैं उसकी बन जाऊँ।
    लबों से छू लूँ जिस्म तेरा, साँसों में साँस जगा जाऊँ,
    तू कहे अगर इक बार मुझे, मैं खुद ही तुझमें समा जाऊँ।

  • mahima devi posted an update 5 months ago

    चलते चलते राह में उनसे पहली मुलाकात हुई,
    वो कुछ शरमाई फिर सहम सी गई,
    दिल तो हमारा भी किया कि कह दे उनसे
    अपने दिल की बात…
    पर कम्बखत इस दिल की इतनी हिम्मत ही न हुई.

  • i earn 300$ this month

  • Hum to ab bhi sirf tumse hi pyar karte hai,puchna un rahon se jahan rehkr tera intjar karte hai,pr tod dete ho tum dil mera,jb bhi tumse mahobt ka ijhaar karte hai

  • तुम याद आये…

    लगी जब सावन की झड़ी तुम याद आये
    गिरी जब बूंदों की लड़ी तुम याद आये

    शाम को छत पे आकर वो जुल्फें लहराना
    देखी जब वो छत सूनी पड़ी तुम याद आये

    उन गलियों से गुजरता हूँ नज़रें झुकाकर
    आँख जब गैर से लड़ी तुम याद आये

    बाद-ए-मुलाकात करना वादा कल का मगर
    टूटी जब मिलने की कड़ी तुम याद आये

    बिन तुम्हारे जीने का तो कोई सबब न था
    जिंदगी…[Read more]

  • वो आया तो मेरे शहर का मौसम बदल गया
    इस कायनात का हर इक जर्रा महक गया |

    हवा ने भी की थी सरगोशी मेरे कानों में
    मौसम बहारा का परचम लहर गया

    बरसों से जिसके दीद की हसरत थी पल रही
    वो सामने आया तो मेरा घर महक गया

    उसको देखूं या छूऊं,या भर लूं दिल के दामन में
    कब से पड़ा था खाली जो गोशा वो भर गया …

    _____________________

  • हर शख्स यहाँ उलझा हुआ है
    यूं कितना भी सुलझा हुआ है ।

    गल्ती हो जाती है आदमी से
    चाहे जितना भी मंझा हुआ है।

    तेल है बाती है टूटा भी नही
    चिराग ये क्यों बुझा हुआ है ।

    दूजे का कैसे कोई ख्याल करे
    खुद में हर कोई रूझा हुआ है।

    आप को क्या वो खुश करेगा
    जो खुद से ही खिझा हुआ है ।

    आंख में उसकी शरारत सी है
    जाने उसे क्या सूझा हुआ है ।

    उसे हल करने में मजा आये…[Read more]

  • ख़ुदा करे कि मोहब्बत में ये मक़ाम आए
    किसी का नाम लूँ लब पे तुम्हारा नाम आए।

    कुछ इस तरह से जिए ज़िन्दग़ी बसर न हुई
    तुम्हारे बाद किसी रात की सहर न हुई
    सहर नज़र से मिले ज़ुल्फ़ ले के शाम आए।

    ख़ुद अपने घर में वो मेहमान बन के आए हैं
    सितम तो देखिए अनजान बन के आए हैं
    हमारे दिल की तड़प आज कुछ तो काम आए।

    वही है साज़ वही गीत है वही मंज़र
    हर एक चीज़ वही…[Read more]

  • Sapne to bahut hain, magar Darte hai sapne dekhne se kahin sapne choor choor na ho jaye, mahobt to bahut hai magar darte hai kahne se kahin wo or door na ho jaye

  • Kisi gair ki mahobt ka jaam hum nahi lete,tere diye gum bhi kam hone ka naam nahi lete,karte rahen ge khuda se fariyaad,jab tk tum khud aakar hume thaam nahi lete

  • Aaj fir wo mujhe yaad aaya hai,sote hue ishq ko fir usne jagaya hai,dede thoda waqt ae khuda mujhe,shayd aaj fir usko kisi dukh ne sataya hai

  • Kahin unke vaade kahin unke aitbaar gye,wo hume raaste ka pathar samjh kr thokar maar gye,hum ne to ki thi sachi mahobat,pr wo samjhe nahi or jiti baji haar gye

  • Jate huye mere pyar ka salaam le jao,hai koi gum to wo hume de jao,hum to jaa rahe hai khuda ke paas,karni ho koi mannt khuda se wo hume keh jao

  • Meri Zindagi Ke Raaz Main Ek Raaz Tum Bhi Ho Meri Bandagi Ki Aas Main Ek Aas Tum Bhi Ho Tum Kya Ho Mere, Kuch Ho Bhi Ya Kuch Bhi Nahi Magar Meri Zindagi Ke Kaash Main Ek Kaash Tum Bhi Ho

  • Na jaane kon c baat akhri ho.
    Na jaane kon c saans akhri ho.
    isliye hum apko yaad karke sote hai.
    Na jaane zindgi me kon c raat akhri ho.

  • Mohbat milna bhi taqdeer hoti hai.
    bahut kam logo ke hatho me ye lakeer hoti hai.
    juda na ho payar kisi ka.
    kasam khuda ki badi taqleef hoti hai.

  • Har sitara chand ke karib nahi hota.
    Dil ki doulat wala gareeb nahi hota.
    Dost tum jese mille hai mukadar se.
    Har kisi ka easa naseeb nahi hota.

  • तेरी मोहब्बत ने हमे बेनाम कर दिया,
    हमे हर ख़ुशी से अंजान कर दिया,
    हमने तो कभी नही चाहा था हमे मोहब्बत हो,
    लेकिन उसकी पहली नज़र ने हमे नीलाम कर दिया

  • Load More